Theme :
Home
Granth
eBook
Saint
Yatra
Shanka
Health
Pandit Ji

लोग प्यार देना तो सीख गये हैं पर कैसे प्राप्त हो यह नहीं जानते तो भीतर जो इतना प्रेम समाया हुआ है उसका क्या करें? देने और पाने में सब उलट पुलट होता जा रहा है!


  Views :1247  Rating :0.0  Voted :0  Clarifications :6
3603 days 6 hrs 56 mins ago By Ravi Kant Sharma
 

जय श्री कृष्णा.... वास्तविक प्रेम एक तरफ़ा होता है, प्रेम में केवल देना ही होता है, प्रेम में पाने की चाह उत्पन्न होने पर प्रेम व्यापार में परिवर्तित हो जाता है।

3603 days 7 hrs 4 mins ago By Diwakar Kushwaha
 

Pyar Ka Santulan Keval Bhagwat Prem Me He Ho Sakta Hai,Ye Sansaar Unhi Ki Maya Matra Hai To Hum Is Sansar Se Quality Ki Asha Kaise Kar Sakte Hain.

3603 days 12 hrs 48 mins ago By Ashish Anand
 

jab hum kisi se vastavik prem karten hain to usame len-den ka koi bhav hi nahin reh jata... fir ulta-sidha ka matlab hi kahaan... aur vastavik prem to ishwar hi humase karta hai... iss sansar ka prem to sirf dikhava hai, usame condition hai ki ye mera putra hai, ye pati, ye friend aur ye mere sage apane hai... jis din hum sabko ek saman pyar dene lagenge, fir kuchh ulta nahi hoga... har jagah hume apne liye pyar hi pyar dikhega... lekin aisa tab hoga jab hum uss kanha ke pren mein sabko hi bhul jaayen.. radhe-radhe...

3604 days 2 hrs 26 mins ago By Gulshan Piplani
 

प्यार मात्र देने का ही नाम है जो प्राप्ति की इच्छा रख कर प्यार देता है उसे पता ही नहीं की प्यार किस चिड़िया का नाम है| सब कुछ उलट पलट तो होगा ही|

3604 days 13 hrs 13 mins ago By Rajender Kumar Mehra
 

उलट पलट इसलिए है क्योंकि हम पाने की कोशिश में भी लगे हैं |

3604 days 13 hrs 15 mins ago By Rajender Kumar Mehra
 

प्यार देना लोग सीख गए इससे अच्छा तो कुछ है ही नहीं और जब देना सीख गए हैं तो प्राप्त करना तो सीखने की जरूरत ही नहीं है क्योंकि प्यार तो ऐसी चीज है जितना बांटो उतना ही बढ़ता है | सीखन तो सिर्फ बांटना पाना नहीं सीखना वो तो अपने आप मिल जाएगा | सागर से अगर भाप बनकर बादल बनेगे फिर बरसेंगे तो नदी के रूप में दुबारा सागर में ही मिलेंगे | जिस दिन हम प्यार पाना सीखने लगेंगे उस दिन देना भूल जायेंगे | प्यार तो नाम ही देने का है वापस तो उसने आना ही है | जैसे कुँए में आवाज लगाओ तो वापस आएगी ही कोई पर्यास नहीं करना पड़ता | प्यार हमेशा एक तरफ़ा होता है दूसरी तरफ से अपने आप आता है | इसलिए सिर्फ बाटना सीखो हमारे अन्दर जो प्रेम का समुद्र है उसे बाटते जाओ बस वो तो भरा ही रहेगा उसे तो खाली होना ही नहीं है | राधे राधे

 
Tags :
Radha Blessings



Click here to know more about Radha Blessings
Popular Article
Popular Opinion
Latest Bhav



Today Opinion Topic

हम अधिक अनुशासित कैसे बने?

Radhakripa on Mobile

Guru/Gyani/Artist
DISCLAIMER:Small effort to expression what ever we read from our scripture and listened from saints. We are sorry if this hurts anybody because information is incorrect in any context.
Copyright © radhakripa.in>, 2010. All Rights Reserved
You are free to use any content from here.