Theme :
Home
Granth
eBook
Saint
Yatra
Shanka
Health
Pandit Ji

हिन्दू धर्म में गौ -सेवा पर सर्वाधिक जोर क्यों दिया गया है.

हिन्दू धर्म में गौ -सेवा पर सर्वाधिक जोर है इतने व्यस्त जीवन में गौ सेवा कैसे करें ?

  Views :1806  Rating :0.0  Voted :0  Clarifications :5
3859 days 12 mins ago By Aditya Bansal
 

33 crore devi devta gau mein vaas karte hai

3862 days 16 hrs 54 mins ago By Gaurav Malhotra
 

go sewa kasi hoti he iska hal ap ko ludhiana (punjab)me govind gowdham ake dakhe ya prchin go shal ake dakhe kis trha yha peh log go sewa karteh he

3863 days 21 hrs 10 mins ago By Rajat Sinha
 

कैसे की जाए गौ सेवा??? गर्मी के दोनो में तो गौ माता की हाल और बुरे हो जाते है... मध्य भारत मे तो गौ- शालाओ मे पानी और चारे के अभाव मे बहुत दयनीय स्थिति हो जाती है. कही पढा- सुना है कि चित्रकूट और बनारस मे कही वैज्ञानिक पद्धति से गौ-पालन किया जाता है. जिससे कि गौ सेवक पर आर्थिक भार भी ना आये और गौ सेवा का क्रम बना रहे. वैसे यह भी सुना है कि यदि सही प्रक्रिया अपनाई जाये तो एक दूध नही देने वाली गाय भी आजीवन 2-3 लोगो के एक परिवार का भरण- पोषण कर सकती है... क्या कोई इस बारे मे तथ्य परक और उचित जानकारी दे सकता है????

3864 days 19 hrs 37 mins ago By Vipul Nema
 

hamre dhram me go sewa maa ke saman sewa mana hai jis prakar maa ke dugh se uske bache ka poshad hota hai uski prakar gaay ke dudh se manav samaj ka kalyan hota hi aaj ka samaj bahut adhunik ho gaya hai uske paas kutta palne ke liye to phursat hai per go sewa ki liye nahi hai jaruri nahi ham gaay ko pale per ham nit prati din gaay ko chara are aan de sakte hai garmi me apne ghar ke vahar pani ki vayath kar sakte hai gaay hamri maa hai eski sewa me sampun geewan bhi lagaya jaye to wah bhi kam hai kayo ki wah hame apne wachhde ya wachhiya ke hise ka duth hame daan deti hai jo ki hamare uper sawse bada upkar hai

3864 days 20 hrs 43 mins ago By Ravi Kant Sharma
 

जय श्री कृष्णा...... हिन्दु धर्म में व्यक्ति का जीवन अन्न और दूध पर ही निर्भर होता है, गाय से दूध प्राप्त होता है, जिस प्रकार माँ के दूध से बच्चे का पोषण होता है, उसी प्रकार गाय के दूध से व्यक्ति का पोषण होता है, इसीलिये गाय को माता कहा जाता है।...... गीता (१८/४४) के अनुसार गौ पालन, गौ सेवा, गौ रक्षा करना और व्यापार करना वैश्य का स्वभाविक कर्म यानि धर्म बताया है। जब कोई वैश्य व्यापार को निष्काम भाव से करता है तो उसका व्यापार ईश्वर की भक्ति ही होता है।..... इसलिये हिन्दु धर्म में गौ-सेवा सर्वाधिक जोर दिया जाता है।

 
Tags :
Radha Blessings



Click here to know more about Radha Blessings
Popular Article
Popular Opinion
Latest Bhav



Today Opinion Topic

हम अधिक अनुशासित कैसे बने?

Radhakripa on Mobile

Guru/Gyani/Artist
DISCLAIMER:Small effort to expression what ever we read from our scripture and listened from saints. We are sorry if this hurts anybody because information is incorrect in any context.
Copyright © radhakripa.in>, 2010. All Rights Reserved
You are free to use any content from here.