Theme :
Home
Granth
eBook
Saint
Yatra
Shanka
Health
Pandit Ji

कोख से इच्छानुसार बालक या बालिका की प्राप्ति

क्या यह संभव है कि कोई माता अपनी कोख से इच्छानुसार बालक या बालिका की प्राप्ति कर सके? अगर हाँ तो कैसे?

  Views :1510  Rating :0.0  Voted :0  Clarifications :5
3757 days 22 hrs 45 mins ago By Bhakti Rathore
 

ha man me ma ke jase bichaar hoge wase he ladka ya ladki ka janm hoga

3767 days 19 hrs 28 mins ago By Gulshan Piplani
 

मैं निधि नेमा जी के उत्तर से में पूर्णत: सहमत हूँ| यह बात और है कि आधुनिकीकरण हो जाने के पश्चात लोगों ने यह मन्ना छोड़ दिया है और कुछ गलत लोगों कि वजह से भी ऐसा हुआ है| दरअसल तो शास्त्रों में यहाँ तक लिखा है कि अगर आप चाहें कि मेरी कोख से संत उत्पन हो तो वोह भी आप प्राप्त कर सकते हैं| पारवती जी ने ३००० वर्ष तक ताप किया शिव पुराण में देखें हज़ार से भी ज्यादा वर्ष तो वह मात्र हवा का सेवन कर के जीवित रहीं| आजकल भी ऐसा ताप करने वाले लोग हैं पर वोह संसार के सामने नहीं आते| क्योंकि वह असली तप कर प्रभु प्राप्ति करना चाहते हैं| बाकि जैसा मन वैसे विचार|

3767 days 19 hrs 55 mins ago By Diwakar Kushwaha
 

Nahi Balak Ya Balika Ka janma Uske Pita Per Nirbhar Hai,Parantu Hamare Shastra ichit santaan hetu niyam batate hai jinka palan atyant kathin hai.

3767 days 21 hrs 54 mins ago By Nidhi Nema
 

राधे राधे, ऐसा संभव है.श्रीमद्भागवत के ९ वे स्कंध में जब शुकदेव जी ने राजा परीक्षित जी को सूर्य चन्द्र वंश कि कथा सुनाई तो उसमे वैवस्वत मनु पहले संतान हीन थे उन समय उन्होंने वशिष्ट ने उन्हें संतान प्राप्ति के लिए वरुण यज्ञ कराया,मनु कि पत्नी श्रद्धा ने अपने "होता"से जाकर प्रार्थना कि कि मुझे कन्या कि ही प्राप्ति हो जब यज्ञ के बाद उन्हें कन्या हुई.तब मनु ने उनसे पूंछा कि मैंने तो पुत्र प्राप्ति के लिए य ज्ञ कराया था,पर इस यज्ञ का विपरीत फल कैसे ?तब उन्होंने कहा - कि उन्होंने कहा कि आपकी पत्नी ने हमसे पुत्री कि प्राप्ति के लिए पहले ही याचना कि थी इसलिए पुत्री पैदा हुई,इसी प्रकार भागवत में पयो व्रत कि कथा आती है.जिसे फाल्गुन प्रतिपदा से शुरू किया जाता है और द्वादसी हो समाप्त होता है जिसमे केवल दूध ही पिया जाता है,जिससे उत्तम पुत्र कि प्राप्ति होती है,और कश्यप जी के कहने पर अदिति जी ने यह पयो व्रत किया जैसे उनके यहाँ भगवान वामन जी का अवतार हुआ.

3767 days 22 hrs 56 mins ago By Vipin Sharma
 

AISA NAHI HO SAKTA AGAR AISA HOTA TO LADKIYA KABHI PAIDA NAHI HOTI.

 
Tags :
Radha Blessings



Click here to know more about Radha Blessings
Popular Article
Popular Opinion
Latest Bhav



Today Opinion Topic

हम अधिक अनुशासित कैसे बने?

Radhakripa on Mobile

Guru/Gyani/Artist
DISCLAIMER:Small effort to expression what ever we read from our scripture and listened from saints. We are sorry if this hurts anybody because information is incorrect in any context.
Copyright © radhakripa.in>, 2010. All Rights Reserved
You are free to use any content from here.