Theme :
Home
Granth
eBook
Saint
Yatra
Shanka
Health
Pandit Ji

धोखाधड़ी और भ्रष्टाचार का सामना कैसे करे?

इस बारे में आपका क्या द्रष्टिकोण है?

  Views :4489  Rating :0.0  Voted :0  Clarifications :4
3644 days 14 hrs 19 mins ago By Waste Sam
 

राधे राधे, यदि हम सब धर्म के मार्ग का अनुसरण करे तो हमे किसी परेशानी से नहीं लड़ना पड़ेगा क्योंकि हम कोई गलत काम ही नहीं कर पाएंगे | जय श्री राधे

3651 days 21 hrs 21 mins ago By Dasabhas DrGiriraj N
 

bhrastaachaar nayee baat nhi h, hamesha tha, rahega. ram k samay m bh tha, krishn k samay m bh tha, atah koi chinta ki baat nhi h, sristi k aadhar hn 3 gun : satv raj tam, bhrastaachaar tam gun ka prateek h, sristi se yh kabhi samapt nhi hoga, han aapko achchh nhi lagtaa to aap apne se , apne pariwaar se ise door kar sakte hai. aap bhrastaachaar na karen http://shriharinam.blogspot.com/2011/08/log-kya-kar-rahe-hain.html JAI SHRI RADHE !

3651 days 21 hrs 50 mins ago By Balvinder Aggarwal
 

हरी ओम तत्सत :इस समस्या से बचने के लिए हर व्यक्ति को हर स्थिति,अवस्था में अपने एवं परिवार सहित समाज को संस्कारित करना होगा यानि वेदिक संस्कृति के अंतगत जीवन जीना होगा तो ही ये संभव है .....वेदिक ऋषि

3652 days 1 hrs 46 mins ago By Ravi Kant Sharma
 

जय श्री कृष्णा.... आध्यात्मिक दृष्टिकोण से जो कुछ तन की आँखों से दिखलाई देता है वह सत्य नहीं होता है।..... संसार में प्रत्येक व्यक्ति स्वयं को ही ठग रहा होता है और स्वयं के द्वारा ही ठगा जा रहा होता है।.... जब कोई व्यक्ति केवल स्वयं को ही देखता है, वहीं व्यक्ति सांसारिक धोखाधड़ी और भ्रष्टाचार का सामना करते हुए स्वयं को धोखाधड़ी और भ्रष्टाचार से मुक्त रख पाता है।..... *****'होइ है वही जो राम रचि राखा। को करि तर्क बढ़ावै साखा॥*****

 
Tags :
Radha Blessings



Click here to know more about Radha Blessings
Popular Article
Popular Opinion
Latest Bhav



Today Opinion Topic

हम अधिक अनुशासित कैसे बने?

Radhakripa on Mobile

Guru/Gyani/Artist
DISCLAIMER:Small effort to expression what ever we read from our scripture and listened from saints. We are sorry if this hurts anybody because information is incorrect in any context.
Copyright © radhakripa.in>, 2010. All Rights Reserved
You are free to use any content from here.