Theme :
Home
Granth
eBook
Saint
Yatra
Shanka
Health
Pandit Ji

मथुरा - परिचय

  Views : 2391   Rating : 4.7   Voted : 3
Rate Article

मथुरा, भगवान कृष्ण की जन्म भूमि  और भारत  की परम प्राचीन तथा जगद्-विख्यात नगरी है. लवणासुर के वधोपरांत श्री राम के छोटे भाई शत्रुघ्न ने इस नगरी को पुन: बसाया था. उन्होंने मधुवन के जंगलों को कटवा कर उसके स्थान पर नई नगरी बसाई थी. यहीं कृष्ण का जन्मस्थान है ,उस समय  (द्वापर युग)में यहाँ के अधिपति कंस थे उनकी चचेरी सबसे छोटी बहिन देवकी थी जिनका विवाह वासुदेव से हुआ था और जब कंस को पता चला की देवकी का आठवा पुत्र मेरा काल होगा तो उसने दोनों को कारगर में डाल दिया.  

 

कंस के कारागार में श्री कृष्ण ने देवकी के गर्भ से प्रकट होकर अत्याचारी कंस का वध करके  सभी को उसके अभिशाप से छुटकारा दिलवाया, और इस नगर की महिमा को सम्पूर्ण विश्व में प्रकाशित किया. कंस की मृत्यु के बाद श्री कृष्ण मथुरा ही में बस गए किंतु जरासंध के आक्रमणों से बचने के लिए उन्होंने मथुरा छोड़ कर द्वारिका  पुरी बसाई. 

 

भारतवर्ष में अयोध्या, मथुरा, काशी, काञ्ची, माया, अवन्ती, द्वारावती-ये मोक्ष प्रदाता सात पुरियाँ हैं. इन सभी पुरियों में मथुरा पुरी का विशेष महत्व है. क्यों न हो यहाँ पर स्वयं सच्चिदानन्द प्रभु श्री कृष्ण जी ने अवतार लिया है. प्रभु श्री कृष्ण के सुदर्शन चक्र से रक्षित इस मथुरा पुरी का महत्व बैकुण्ठ से भी अधिक माना गया है, क्योंकि इस भूमि पर किसी भी प्रकार के प्रलय आदि विकारों का प्रभाव नहीं होता. मथुरा पुरी अति प्राचीन है.

 

"जय जय श्री राधे "


DISCLAIMER:Small effort to expression what ever we read from our scripture and listened from saints. We are sorry if this hurts anybody because information is incorrect in any context.
!! जय जय श्री राधे !!
Comments
2011-12-16 23:36:56 By CHANDRA PRAKASH RAI

jai ho shri mathura rakshak devakinandan vaashudev shri krishna ki..........................

2011-08-14 21:55:06 By santohh

this place so atteractive

2011-08-10 18:59:47 By Gulshan Piplani

radhey radhey

2011-08-08 20:17:48 By Vipin Sharma

Mandir Bahut Sundar h

2011-08-05 21:35:13 By Gulshan Piplani

कंस ने कारागार में भी न छोड़ा अत्याचार| श्री कृष्ण ने उसको मारकर किया कंस उद्दार||

Enter comments


 
मथुरा - परिचय
Last Viewed Articles
eBook Collection
सभी किताबे
राधा संग्रह
ग्रन्थ
कृष्ण संग्रह
व्रज संग्रह
व्रत कथाएँ
यात्रा
DISCLAIMER:Small effort to expression what ever we read from our scripture and listened from saints. We are sorry if this hurts anybody because information is incorrect in any context.
Copyright © radhakripa.in>, 2010. All Rights Reserved
You are free to use any content from here.