Home
Darbaar
Shanka
1M
GauSeva
Saint
eBook
Photo
Video
eSatsung
Pandit
Radio
Worship
Store
 
Hindi | English
सत्संग
परिचय - विनोद अग्रवाल जी
 
#Readers :

विनोद अग्रवाल जी को पूरे भारत में सभी जानते है वे आध्यात्मिक गुरु है जो आम जनता को अपने भजनो और प्रवचन से भगवत प्रेम से जोडते है.उनकी आध्यात्म में एक जगह है, वे बहुत मधुर भजन गाते है जिसमे गाने के साथ-साथ शायरी और प्रवचन होती है और पूरे सुर और ताल के साथ एक राग से दूसरे राग में बिना रुके ही गाते है उनके भजन लोगो को सीधा भगवान से जोडते है.

 

उनका जन्म 6th जून 1955में दिल्ली में हुआ. उनके पिता स्वर्गीय श्री किशनदास और माता स्वर्गीय श्रीमति रतनीदेवी अग्रवाल थी, ये दोनों भगवान कृष्ण को बहुत मानते थे 1962 में  वे अपने माता-पिता और भाई के साथ दिल्ली से बम्बई आये.उनके माता-पिता उन्हें सदा भजन कीर्तन के लिए प्रोत्साहित करते रहते थे और अपने व्यवसाय के स्थान पर गुरु और संतो को बुलाते रहते थे, भगवान की कृपा से बारह साल की उम्र में ही उन्होंने भजन और हारमोनियम स्वयं ही सीख लिया उनके पिता ने उन्हें प्रोत्साहित किया कि वे अलग-अलग शहर में जाये और लोगो से मिले और उन्हे  कीर्तन में शामिल करे.

 

जब वे अपनी पढाई पूरी कर चुके तब उन्होंने पूरा ध्यान भगवान के भजन और भक्ति में दिया. उन्होंने जनमाष्टमी और इसके साथ-साथ दूसरे त्योहार जैसे शिवरात्रि आदि पर भी भजन गए. उनके गुरु स्वर्गीय "श्री मुकुंद हरि जी महाराज" भटिंडा के थे, उन्होंने 1979. में अपने गुरु से दीक्षा ली.उनके गुरु की परम इच्छा थी कि वे हरि नाम का संकीर्तन सारी दुनिया में फैलाये इसलिए विनोद जी ने 1995 से  गाँव, शहर, भारत के अलग–अलग हिस्सों में  बिना किसी fees.के ही प्रोग्राम करना शुरू कर दिया. पंजाब में सभी उन्हें 'संकीर्तन सम्राट' के नाम से जाने जाते है, वे हिंदी, उर्दू और पंजाबी भाषा बहुत अच्छे से जानते है.

 

विनोद जी का इस बात का दृढ विश्वास था कि मेरी सफलता का कारण  गुरूजी का आशीर्वाद ही है उन्हें भी नहीं पता  कि अब तक वे कितने प्रोग्राम पूरे कर चुके, उनके 760 programmes की  रिकॉडिंग है,  CD's, VCD's और  audio cassettes सभी की  रिकॉडिंग बिना किसी retakes के पूरी होती  है, जो विभिन्न  TV channel's पर देखाये जाते है.

 

न केवल भारत में बल्कि U.K, Germany, Switzerland, Thailand, Singapore and Dubai सभी जगह उनके प्रशंसक है,उनके भजनों में वो जादू कि व्यक्ति जब आँख करके उनके भजन में डूब जाता है तो मानो इस लोक से निकल कर, कृष्ण लोक में पहुँच गया हो,ऐसी कई भक्त जनो ने अपनी अनुभूति बताई है.

 

"जय जय श्री राधे"    

 

Comments
2018-10-04 11:14:17 By Mahesh kumar

Jay shree krishna

2018-09-24 10:16:07 By Mahesh kumar

Param adharniy shree vinod g agrawal me apke sri charno me naman karta aur har pal apke bhajano ke sath bitana chahata hu jay shree krishna jay shree radhe

2018-09-03 07:19:35 By Satendra singh jadon

आदरणीय विनोद अग्रवाल सहह्रदय सादर चरण स्पर्श एक बार अपने कदम ग्वालियर मैं भी रखें और यहाँ के भक्तों को आनंदित करें आपकी अति कृपा होगी।

धन्यवाद

2018-08-31 18:00:35 By bhagwan singh yadav

आदरणीय श्री विनोद अग्रवाल जी आपके सुमधुर, भजन मेरे अंतर्मन तक झकझोर कर देते है, जो कि ईश्वर से साक्षात दर्शन करवाते है, धन्य है आप

2018-08-28 13:27:48 By Sonu Kasana

Mere Dil ka iccha puri kar di

2018-08-16 06:26:05 By सुषमा जैसवाल

आदरणीय विनोद जी
सादर चरण स्पर्श!
आपके प्रेम रस में डूबे भजन सीधे कृष्ण तक पहुचाते हैं।
कभी रुलाते हैं कभी हसाते हैं।
आपके भजन सुनती हूं मैं दिन रात हमेशा!!!
आपके भजनो में डूबे डूबे कब निकल जाता है पता ही नही चलता।कुछ और करने का दिल ही नही करता।
कृष्ण को प्राप्त होने की बेचैनी और भी बढती ही जाती है।
ईश्वर आपकी दीर्घायु करें ताकि आपके और भजन हमे सुनने को मिलते रहें

2018-08-07 20:30:34 By Miss pinki advocate

चार साल से पहले से ही मैं आपके भजन कीर्तन सुन रही हूँ, और आपके भजन कीर्तन सुनकर मेरा नीरस जीवन सदैव सुखदायक बना रहता है धन्यवाद

2018-07-27 05:29:17 By Rambharose Soni

विनाेद अग्रवाल जी को सादर प्रणाम आपके भजन सुनकर संपूर्ण शांति मिलती है

2018-06-06 07:22:42 By 8806160274

Jivan me guru charano se liptna ...or hari nam ke charno se liptna....

2018-04-13 11:50:23 By Hansraj

Mp3

2018-03-24 21:15:11 By jitendra pandey

Agrawal ji mai aapke hi bhajan sunta hun ismai mujhe sukhad anbhuti hoti hai.aap dirghayou rahe sada ese hi gate rahe.charan vandan jay shri radhe.

2017-05-24 05:56:31 By Monu Singh Chauhan

Param adrniy vinod Agarwal g k bhajano ko sunkar bhakti k athah sagar m dub jata hu

2017-04-27 15:15:45 By vimal singh

I given to the songes.ap to bhagvan se mila dete h

2012-01-24 08:44:35 By K.B.PANDEY

JAI SHRI RADHEY

2011-10-24 17:47:34 By Ashok Khera

Respected Vinodji,

Aap ko dekh kar aur aapki amritmayi vaani mein Radha-Krishan bhajan sun kar ham gad gad ho jaatein hain. Radhe-Radhe

2011-10-16 07:35:36 By ashok chowdhary

vinod ji aap par shri radha ji ki param kripa hai , hamko bhi apne sath le lo .

2011-08-14 17:55:50 By Waste Sam

radhey radhey, vinod ji ko mera pranam... inka gaya: radhika gori se brij ke chori se mera priya bhajan hai... bhakt gan usse ek baar jaroor sune.. jai shri radhey

2011-08-04 13:40:06 By kavita

sir apke bhajan muje bahut ache lagte he, apke har bhajan mei kuch seekh milti he jo practical life mei bahut labhdayak sidd hoti he

2011-07-15 16:24:49 By Bhakti Rathore

Radhe radhe bhjan bhut he ache hote he aur man ko ekdum akkrg ker dete he unka wo bhjan bhuthe achalaga he kahniya le chal parli parr

2011-07-15 16:24:47 By Bhakti Rathore

Radhe radhe bhjan bhut he ache hote he aur man ko ekdum akkrg ker dete he unka wo bhjan bhuthe achalaga he kahniya le chal parli parr

2011-06-22 13:46:01 By Rajender Kumar Mehra

bin kaaran ke karte ho kripa to kripa karne me kotaahi na ho kisi kaaran se karte ho kripa to kripa nidhi aisi kripa hi na ho bindu jee ki likhi aur vinod jee ki gayee hui ye lines mujhe bahut priya hain radhe radhe

2011-06-12 14:14:27 By Gaurav Tiwari

गुरु गोविन्द दोउ खड़े का के लागूं पायें, बलिहारी गुरु आपने गोविन्द दियो बताये ..

2011-06-08 20:06:53 By aarti sharma

jai shri radhe ji

2011-06-02 18:15:36 By sunny

hare krishan

2011-06-01 15:11:02 By Supriya Sachin Shinde

hare krishna.....

2011-05-15 09:40:38 By anjali san

wanna teacher online to teach me geeta

2011-05-12 19:57:04 By [email protected]

विनोद अग्रवाल जी को हमारा शत शत नमन | उनके भजन सब तक सुलभ रूप से पंहुचा रही है www.sankirtansewa.org/website

2011-05-12 15:14:16 By Rahul Deopa

Hare krishna.....

2011-05-06 21:44:36 By

2011-05-04 15:39:30 By aditya bansal

KANHA HAI PHOOLUN KE SAMAN ITNA PYAARA SABKA RAJ DULARA KHO JAO MOHAN KE PYAAR MEIN ITNA BHAKTI VIVASH BHAGA CHALA AYE KAR DO MAJBUR ITNA

2011-04-14 18:23:14 By Murlidhar

HARE KRISHNA HARE KRISHNA KRISHNA KRISHNA HARE HARE !! HARE RAMA HARE RAMA RAMA RAMA HARE HARE !!

2011-04-13 14:22:12 By bhawna makan

\"HARE KRISHNA\"

2011-04-13 09:29:16 By murlidhar

jai sree krishna

2011-04-12 00:10:01 By mausam nema

jay shree krishna

2011-04-08 14:45:08 By kishori dasi

yeh hamare sabse pehle shiksha guru hein, inke bhajan sunkar hi hum thakurji ki or badne lage. Apko shat-shat pranam.

2011-04-08 13:11:26 By Supriya Sachin Shinde...

Hare Krishna.....

2011-03-31 14:38:12 By Sunita singh Rathore

unke bhjan bhut he ache hote he

2011-03-16 21:15:41 By sandeep

07614032554 09893081623 jabalpur m.p.

2011-03-11 16:42:17 By thanniru.lakshmi

namaskaram.we want in telugu varshan to bhagvat geetha. thank you.

Enter comments


 
Share
!! जय जय श्री राधे !!
 
 
श्रीमद्भागवत
ब्रज संग्रह
कृष्ण संग्रह
राधा संग्रह
स्त्रोत संग्रह
आरती संग्रह
रास पंचाध्यायी
गोपी गीत
शिक्षाएँ
भक्त चरित्र
ज्ञान
एकादशी
चैतन्य सन्देश
Copyright © radhakripa.com, 2010. All Rights Reserved
You are free to use any content from here but you need to include radhakripa logo and provide back link to http://radhakripa.com