Home
Darbaar
Shanka
1M
GauSeva
Saint
eBook
Photo
Video
eSatsung
Pandit
Radio
Worship
Store
 
Hindi | English
सत्संग
भक्ति और ज्ञान मार्ग का अंतर
 

Audio :

#Readers :

सभी जानते है कि रस के दो मार्ग है भक्ति (प्रेम) और ज्ञान. परन्तु इन दोनों मार्गो मे चलने के लिए एक बात परम आवश्यक है. ज्ञान के लिए जिज्ञासा और प्रेम के लिए पिपासा ! इसके बिना कोई आगे नहीं बढ़ पाया !

 

हमारे संतो ने थोडा सा सरल करके इन दो मार्गो के व्याख्या की है ! वैसे सभी मार्गो का अंतिम लक्ष्य तो वही परम सत्ता की प्राप्ति है !

 

वैसे तो बच्चो को हमेशा अपने पालक पर निर्भर होना पड़ता है ! हमारे संत कहते है कि ज्ञान मार्ग बंदर के जीवन जैसा है! बंदर के बच्चे को हमेशा अपने पालक तो पकड़ कर रखना होता है ! यदि वह गिरता है तो उसमे पालक का कोई दोष नहीं, यंहा बच्चे ने पालक को पकड़ रखा है ! ये ज्ञान मार्ग है !

 

भक्ति मार्ग बिल्ली के बच्चे की तरह है ! बिल्ली अपने बच्चे को अपने बच्चे को मुह मे दबा कर यंहा से वंहा ले जाती है !अब यदि बच्चे को कुछ भी हो तो ये पालक की जिम्मेदारी होती है ! यंहा बच्चे ने पालक को नहीं पकड़ रखा , पालक ने बच्चे को संभाल रखा है ! भक्ति मे हमें सिर्फ हाथ बढाना है ! बाकी पालक की जिम्मेदारी !

"जय जय श्री राधे "

Comments
2011-12-25 20:24:39 By Ashwani Vashisht.

hamaro dhan radha shri radha .
param dhan radha radha prem sarovar................

2011-10-09 11:45:00 By Vandana Goel

awesum!!!!!!!

2011-06-26 10:25:52 By Chetan Khosla

So True........... Jai JAi Shri Radhe Sham...........

2011-05-11 11:41:39 By Gaurav Soni

Good article for devotion.

2011-05-10 13:29:37 By HARE KRISHNA

HARE KRISHNA YE SATYA BACHAN

2011-04-30 13:38:38 By ??? ???????

सरल और सुन्दर भाव

2011-04-16 13:53:02 By KAILASH CHANDRA SHARMA

BANDARIYA KE BACHCHE AUR BILLI KE BACHCHE KE MADHYAM SE BADE SUNDER DHANG SE GYAN MARG AUR BHAKTI MARG KE ANTER KO APNE SAMJHAYA HAI .. DHANYVAD ... RADHE RADHE...

2011-03-19 12:16:16 By mamta

radhy radhy

2011-02-22 10:47:28 By Vasundhara

Nice Article.. Super Liked the picture against it !! Radha Kripa is coming up with some wonderful and rare articles and paintings..

2011-02-18 00:46:44 By vasundhara

nice article !!

Enter comments


 
Share
!! जय जय श्री राधे !!
 
 
श्रीमद्भागवत
ब्रज संग्रह
कृष्ण संग्रह
राधा संग्रह
स्त्रोत संग्रह
आरती संग्रह
रास पंचाध्यायी
गोपी गीत
शिक्षाएँ
भक्त चरित्र
ज्ञान
एकादशी
चैतन्य सन्देश
Copyright © radhakripa.com, 2010. All Rights Reserved
You are free to use any content from here but you need to include radhakripa logo and provide back link to http://radhakripa.com