Theme :
Home
Granth
eBook
Saint
Leelaye
Temple
Yatra
Jap
Video
Shanka
Health
Pandit Ji

त्मा के हृदय रुपी गुहा

इस जीवात्मा के हृदय रुपी गुहा में रहनेवाला परमात्मा छोटे-से-छोटा तथा बड़े-से-बड़ा है| कैसे? अपना दृष्टिकोण प्रस्तुत करैं|

  Views :1067  Rating :0.0  Voted :0  Clarifications :5
submit to reddit  
2978 days 11 hrs 13 mins ago By Bhakti Rathore
 

चेतन तत्व यानी परमात्मा का कोई आकार नहीं होता जैसे कई आकार के घट बनायो तो उस हर घट में आकाश होता है | इसी तरह हर वस्तु जीव में चेतन तत्व विद्यमान है चाहे वो छोटे से छोटा जीव या वस्तु हो | राम चरति मानस में परमात्मा के स्वरुप का वर्णन मिलता है तुलसी दास जी लिखते हैं "पग बिनु चले सुने बिनु काना, कर बिनु कर्म करे विधि नाना |" राधे राधे ye he sahi he radhe radhe

2982 days 13 hrs 30 mins ago By Nidhi Nema
 

राधे राधे,जीवात्मा के ह्रदय रूपी गुहा में परमात्मा बिलकुल वैसे ही है जैसे बहुत सारे घड़े रखे हो जल से भरे और उनमे आकाश का प्रतिबिम्ब दिखायी दे आकाश तो एक ही है,और बहुत विशाल है पर घड़े में उसका प्रतिबम्ब दिखायी देने पर आकाश घड़े के रूप में दिखायी देता है,और अलग अलग घडो में अलग अलग दिखायी देता है,यदि सारे घड़े फूट जाये तो आकाश अपनी अनन्तता में मिल जाता है,ठीकवैसे ही परमात्मा है.

2982 days 18 hrs 4 mins ago By Ravi Kant Sharma
 

जय श्री कृष्णा.... जाकी रही भावना जैसी, प्रभु मूरत देखी तिन तैसी।

2983 days 9 hrs 32 mins ago By Rajender Kumar Mehra
 

चेतन तत्व यानी परमात्मा का कोई आकार नहीं होता जैसे कई आकार के घट बनायो तो उस हर घट में आकाश होता है | इसी तरह हर वस्तु जीव में चेतन तत्व विद्यमान है चाहे वो छोटे से छोटा जीव या वस्तु हो | राम चरति मानस में परमात्मा के स्वरुप का वर्णन मिलता है तुलसी दास जी लिखते हैं "पग बिनु चले सुने बिनु काना, कर बिनु कर्म करे विधि नाना |" राधे राधे

2983 days 9 hrs 41 mins ago By Diwakar Kushwaha
 

Jeevatma ishwar ka he pratiroop hai parantu is sansaar me aakar apney vastavik swaroop ko bhool jati hai.jab manushya ko apna vastavik gyan prapt hota hai to ishwar ke saman he uske gud utpann ho jate hain,is stithi me vah chote se lekar bade jeevo me vidyamaan parmatma ke darshan karta hai,na koi uska mitra hota hai aur na koi shatru sabhi kuch us parmatma ka ho jata hai,yahi vah stithi hai jo vairagya kehlati hai.

 
Tags :
Radha Blessings



Click here to know more about Radha Blessings
Popular Article
Latest Video
Latest Opinion Topic
Latest Bhav
Spiritual Directory


Today Top Devotee [0]

Today Opinion Topic

हम अधिक अनुशासित कैसे बने?

Radhakripa on Mobile

This Month Festivals

Guru/Gyani/Artist
Online Temple
Radha Temple
   Total #Visiters :1390
Baanke Bihari
   Total #Visiters :310
Mahakaal Temple
   Total #Visiters :
Laxmi Temple
   Total #Visiters :248
Goverdhan Parikrima
   Total #Visiters :360
Animated Leelaye
Maharaas Leela
   Total #Visiters :455
Kaliya Daman Leela
   Total #Visiters :
Goverdhan Leela
   Total #Visiters :
Utsav
Radha Ashtami
   Total #Visiters :
Krishna Janmashtami
   Total #Visiters :
Diwali Utsav
   Total #Visiters :248
Braj Holi Utsav
   Total #Visiters :
eBook Collection
सभी किताबे
राधा संग्रह
ग्रन्थ
कृष्ण संग्रह
व्रज संग्रह
व्रत कथाएँ
यात्रा
Copyright © radhakripa.com, 2010. All Rights Reserved
You are free to use any content from here but you need to include radhakripa logo and provide back link to http://radhakripa.com