Theme :
Home
Granth
eBook
Saint
Leelaye
Temple
Yatra
Jap
Video
Shanka
Health
Pandit Ji

आध्यात्मिकता तनाव से कैसे मुक्त करती हैं?

इस बारे में आपका क्या द्रष्टिकोण है?

  Views :498  Rating :4.4  Voted :5  Clarifications :9
submit to reddit  
2650 days 10 hrs 20 mins ago By Pt Chandra Sagar
 

दोनों में कोई सम्बन्ध नहीं , आध्यात्मिक है तो तनाव नहीं और तनाव है तो आध्यात्मिक नहीं |

आत्मा का ज्ञान होने पर तनाव कैसा ?

2653 days 15 hrs 51 mins ago By Rajender Kumar Mehra
 

adhyatmikta hame saty ke darshan karaati hai aur jo ise sweekaar ya angikaar kar lete hain ve tanaav mukt ho jaate hain kyonki tanaav ka kaarn hi saty ko naa janna hai.......radhe radhe

2653 days 19 hrs 3 mins ago By Aditya Bansal
 

ज्ञान के विश्वीकरण से

2654 days 16 hrs 13 mins ago By Waste Sam
 

राधे राधे जीवन में अप्रसन्नता का करना है इच्छाओ का पूरा ना होना, इसलिए जरूरी है की हम अपनी इच्छाओ को अपने आधीन करे | जय श्री राधे 

राधे राधे आध्यात्म का अर्थ है सत्य से जुड़ना, प्रभु से जुड़ना और जब हम सत्य और माया के भेद को जा लेते है तो तनाव से मुक्त हो जाते है, क्योंकि तनाव का कारण है इस माया रुपी जगत को सत्य समझाना | जय श्री राधे 

2655 days 22 hrs 11 mins ago By Gulshan Piplani
 

सूत्र १-१-९ -------------------------------------------------------------------------स्वाप्ययात्-------------------------------------------------------

------------------------------------------------------हो विलीन स्व: स्वयं में सत् संपन्न हो जाये|-------------------------------
-------------------------------------------------------हीन विलीन हो लीन स्व: स्वपिति कहलाये||------------------------------


राधे राधे ----जब मनुष्य अपनी परिस्थितियों को अपने काबू में नहीं रख पाता तभी वोह तनावग्रस्त होता है| उसका देश, काल, संग, क्रिया जब उसकी समस्याओं का निदान करने में असमर्थ हो जाते हैं तभी वह तनावग्रस्त होता है| जब उसका अहम् पराजित होता है तभी वह किसी अन्य की सत्ता को स्वीकार करता है| अन्यथा जब तक वह 'अहंब्रह्मअस्मि' की स्थिति में स्वं को पाता है तनाव ग्रस्त रहता है| जब तक मनुष्य आत्म को ही सर्वसर्वा समझता है तब तक वह पर-आत्मा अर्थात किसी अन्य आत्मा चाहे वह परमेश्वर भी हो उसकी सत्ता को स्वीकार नहीं कर पाता और अगर स्वीकार कर भी लेता है तो भी जब तक  उसकी शरणागति को नहीं स्वीकारता वह अपने तनावों से जूझता रहता है| ज्यों जी वह किसी "पर" अर्थात जिसे वह नहीं जानता (परमेश्वर) अर्थात देवीय प्रभुता के आगे समर्पित हो जाता है उसकी शरणागति को स्वीकार लेता है वह तनाव से शने:-शने: मुक्त होने लगता है|  बाकी तो बस राधे राधे करता जा आगे आगे बढ़ता जा - राधे राधे


2656 days 15 hrs 38 mins ago By Diwakar Kushwaha
 

Adhyatmikta vah sthiti hai jab manushya sabhi sansarik bhavnao se uper uthkar ek maatra moksha swaroop ishwar ke dhyan me apna chitta sthir kar leta hai,jab manushya is srestha aur divya avastha ko prapt kar leta hai to tanav aur anya samanya sansarik pravritiyon se uska koi sarokaar nahi reh jata hai wah to gyan swaroop ho jata hai jiske aage agyanta ek kshan bhe thar nahi sakti II NAMAMI SHAMBHU II

2656 days 16 hrs 5 mins ago By Bhakti Rathore
 

radhe radhe jub tak hume purna gyan nahi hoga tub tak kuch bhisambhav nahi hoga jub hume hume apne ander ka gyan ho jaata he tub hum adhtyam me jaa paate he aur khud apne aapko bhul jaate he jub sub kuch bhul gye to tanav to mukt ho hejayga na radhe radhe

2656 days 20 hrs 20 mins ago By Dasabhas DrGiriraj N
 

तनाव का कारन है अज्ञान. आध्यात्मिकता हमें ज्ञान प्रदान करती है सृष्टि के नियम, कर्म, दुःख, सुख, हानि लाभ, जीवन, मरण की सत्यता से जब हम परिचित हो जाते हं ,तो न हम चिंतित होते हं, न विचलित, न हमें तनाव होता है. -जय श्री राधे -4 more, plz visit www.shriharinam.blogspot.com

2656 days 22 hrs 25 mins ago By Ravi Kant Sharma
 

जय श्री कृष्णा.... आध्यात्मिकता = "सत्य का ज्ञान"...... "सत्य का ज्ञान" होने पर ही सत्य का आचरण संभव होता है।....... सत्य का आचरण होने से सत्य स्वभाव में ढल पाता है।..... सत्य के स्वभाव में ढल जाने पर व्यक्ति सभी प्रकार की चिन्ताओं से मुक्त हो जाता है।.... सभी प्रकार की चिन्ताओं से मुक्त होने पर ही तनाव से मुक्ति प्राप्त होती है।

 
Tags :
Radha Blessings



Click here to know more about Radha Blessings
Article
Latest Video
Latest Opinion Topic
Latest Bhav
892
0
892
0
1006
1
892
0
892
0
926
0
Spiritual Directory


Today Top Devotee [0]

Today Opinion Topic

हम अधिक अनुशासित कैसे बने?

Radhakripa on Mobile

This Month Festivals

Guru/Gyani/Artist
Online Temple
Radha Temple
   Total #Visiters :1358
Baanke Bihari
   Total #Visiters :296
Mahakaal Temple
   Total #Visiters :
Laxmi Temple
   Total #Visiters :246
Goverdhan Parikrima
   Total #Visiters :355
Animated Leelaye
Maharaas Leela
   Total #Visiters :366
Kaliya Daman Leela
   Total #Visiters :
Goverdhan Leela
   Total #Visiters :
Utsav
Radha Ashtami
   Total #Visiters :
Krishna Janmashtami
   Total #Visiters :
Diwali Utsav
   Total #Visiters :246
Braj Holi Utsav
   Total #Visiters :
eBook Collection
सभी किताबे
राधा संग्रह
ग्रन्थ
कृष्ण संग्रह
व्रज संग्रह
व्रत कथाएँ
यात्रा
Copyright © radhakripa.com, 2010. All Rights Reserved
You are free to use any content from here but you need to include radhakripa logo and provide back link to http://radhakripa.com