Theme :
Home
Granth
eBook
Saint
Leelaye
Temple
Yatra
Jap
Video
Shanka
Health
Pandit Ji

शिष्य ऐसा चाहिए जो गुरु को सब कुछ दे पर गुरु भी ऐसा चाहिए जो शिष्य का कुछ न ले, इस कथन का तात्पर्य क्या है ?


  Views :983  Rating :4.2  Voted :4  Clarifications :7
submit to reddit  
2776 days 16 hrs 27 mins ago By Waste Sam
 

radhey radhey...iss vakya ka arth hai shisya aisa ho jo apna sarvasv apne guru ke charano mein rakh dee aur unpar hee vishwaas rakhe... aur guru woh hai jo shisya ko apne adhyatma ke khajane ke anmol ratan apni sadhana ke shisya ko dee dee bina kisse manokamana ke... guru ke liye bhakt (shisya) ke bhakti se bad kar kuch nahi ho aur... jai shri radhey

2779 days 21 hrs 6 mins ago By Vipin Sharma
 

BAHUT HI ACHHA KATHAN HAI ITS VERY NICE

2784 days 22 hrs 26 mins ago By Aditya Bansal
 

गुरु की कर हर दम पूजा। गुरु समान कोई देव न दूजा ।। गुरु चरण सेव नित करिये। तन मन गुरु आगे धरिये ।। गुरु दरस करो आँखन से। गुरु बचन सुनो सरवन से ।। गुरु के बल मन को मारो। गुरु के बल काल सिंघारो ।। गुरु ब्रह्म रूप धर आए। गुरु पार ब्रह्म गति गाए ।। गुरु सतनाम पद खोला। गुरु अलख अगम को तोला ।। गुरु रूप धरा राधास्वामी।

2796 days 9 hrs 2 mins ago By Gulshan Piplani
 

शिष्य शिष्य तब बन सकता है जब वोह गुरु के आगे नतमस्तक हो जाये अर्थात अपने अहंकार को गुरु के समक्ष समर्पित कर दे, अपने मन की लगाम गुरु के हाथ में दे दे अपने अहंकार को समर्पित करने का तात्पर्य है अपनी बुद्धि का समर्पण और अपने ह्रदय को गुरु भक्ति में लगा दे| मतलब सम्पूर्ण समर्पण और गुरु सतगुरु तब कहलायेगा जब वोह शिष्य की बुद्धि ज्ञान के प्रकाश से भर दे उसके मन को शांत कर दे और उसके ह्रदय को उन्मुक्त कर दे अर्थात जितना शिष्य दे उससे हज़ार गुना वापस लोटा दे| - गुलशन हरभगवान पिपलानी

2804 days 18 hrs 53 mins ago By Bhakti Rathore
 

Jai shree radhe radhe asli wo he jo apne guru se kabhi bhi jhut na bole aur apna tan man dhan saub apran ker de unke chrano me aur guru ko cheiye ki wo uska sub kuch laker ke bhi kuch na le kyunki asli to guru ke he pass he aub to shisiya kahaali haath he usne tosub kuch guru ko pahele he apran ker diya he bus jase ki hum apneeast ko sub kuch dee he wo humse kuch lete he nahi sara humhrajaisa ki taisa wapas aur bada ker ke ker detehe yesa he guru kerte he apnesisiya ke saath wo humse kuch nahi kletehe jai shree radhe radhe

2805 days 2 hrs 39 mins ago By Ravi Kant Sharma
 

जय श्री कृष्णा..... शिष्य को गुरु के वचनों के प्रति समर्पण का भाव होना चाहिये, गुरु को शिष्य के प्रति आसक्ति रहित होकर वचन कहना चाहिये।

2805 days 14 hrs 13 mins ago By Rajender Kumar Mehra
 

इस कथन को पढने से ऐसा आभास लगता है जैसे शिष्य अपनी सम्पत्ति दौलत अपनी सेवा गुरु को दे पर साथ ही ये कथन की गुरु उसका कुछ ना ले थोड़ा भ्रम में डालता है भ्रम इसलिए है क्योंकि गुरु कुछ लेगा नहीं तो वो जो शिष्य ने दिया है वो कहाँ जाएगा क्या उसे किसी और को दे दिया जाएगा | लेकिन आज गुरु पूर्णिमा के अवसर पर ऐसा वाक्य किसी संत की वाणी ही लगती है क्योंकि संत जो कहते हैं उनके अर्थ गहरे होते हैं उनको समझने के लिए कुछ मनन की जरूरत पढ़ती है | मैंने भी मनन किया तो पाया की असल में शिष्य की सम्पति है क्या और वो क्या दे सकता है क्या दौलत उसकी सम्पत्ति है परिवार उसकी सम्पत्ति है | वैसे तो है नहीं पर अगर हाँ है तो गुरु को इनसे क्या लेना देना है | असल में शिष्य की सम्पत्ति है जो उसे जन्म के साथ मिलती है वो है षड विकार काम, क्रोध, लोभ, मोह, अहंकार और मद जब वो गुरु के पास जाता है तो उसे अपने असली चेहरे के साथ जाना चाहिए कुछ भी नहीं छुपाना चाहिए जिस मन में ये सब विकार हैं उसको गुरु के चरणों में पूरी तरह समर्पित कर दे कुछ भी अपने पास ना रखे और गुरु भी ऐसा हो जो इन विकारों को अपने प्रकाश से पूरी तरह प्रकाशित करके शिष्य को उसके परिवर्तित रूप में लौटा दे उन विकारों से कहीं खुद ग्रसित ना हो जाए और वो परिवर्तित रूप क्या है कामना हो तो प्रभु पाने की, लोभ हो उसके दर्शन का, क्रोध हो तो भजन के ना बनने का, अहंकार हो तो की मैं प्रभु का हूँ , और मद हो कि मैं उनका दास हूँ | गुरु वही है जो इतना प्रकाशमान हो जो शिष्य के हर विकार हो परिवर्तित कर सके जिस शिष्य को ऐसे गुरु मिले उसे भाग्यशाली इस संसार में कौन हो सकता है और ऐसे सद गुरु को शत शत प्रणाम......राधे राधे

 
Tags :
Radha Blessings



Click here to know more about Radha Blessings
Article
Latest Video
Latest Opinion Topic
Latest Bhav
Spiritual Directory


Today Top Devotee [0]

Today Opinion Topic

हम अधिक अनुशासित कैसे बने?

Radhakripa on Mobile

This Month Festivals

Guru/Gyani/Artist
Online Temple
Radha Temple
   Total #Visiters :1373
Baanke Bihari
   Total #Visiters :299
Mahakaal Temple
   Total #Visiters :
Laxmi Temple
   Total #Visiters :248
Goverdhan Parikrima
   Total #Visiters :357
Animated Leelaye
Maharaas Leela
   Total #Visiters :399
Kaliya Daman Leela
   Total #Visiters :
Goverdhan Leela
   Total #Visiters :
Utsav
Radha Ashtami
   Total #Visiters :
Krishna Janmashtami
   Total #Visiters :
Diwali Utsav
   Total #Visiters :248
Braj Holi Utsav
   Total #Visiters :
eBook Collection
सभी किताबे
राधा संग्रह
ग्रन्थ
कृष्ण संग्रह
व्रज संग्रह
व्रत कथाएँ
यात्रा
Copyright © radhakripa.com, 2010. All Rights Reserved
You are free to use any content from here but you need to include radhakripa logo and provide back link to http://radhakripa.com